Poultry farm subsidy : मुर्गी पालन फार्म के लिए मिल रही है 50 फीसदी सब्सिडी पर 50 लाख का लोन!, यहां करें आवेदन

Poultry farm subsidy

Poultry farm subsidy : मुर्गी पालन (poultry) आज बहुत ही लाभ का बिजनेस हो गया है। शहर हो या गांव दोनों ही जगहों पर यह बिजनेस काफी अच्छा चलता है। मुर्गी पालन के लिए कई पोल्ट्री फार्म (poultry farm) जिसे साधारण भाषा में मुर्गी फार्म  (chicken farm) भी कहा जाता है खुले हुए हैं और वह बहुत अधिक इनकम (income) कर रहे हैं। मुर्गी से दो प्रकार से आय प्राप्त की जाती है एक तो उसके अंडे से और दूसरा उसके मांस से। बाजार में चिकन की बढ़ती मांग के कारण आज मुर्गी फार्म यानी पोल्ट्री फार्म (poultry farm) खोलना लाभ का सौदा साबित हो रहा है।

मुर्गीपालन सब्सिडी लेने के लिए

यहां ऑनलाइन आवेदन करें

खास बात यह है कि पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए सरकार की ओर से 50 लाख रुपए तक की सब्सिडी दी जा रही है। ऐसे में मुर्गी पालन करके आप काफी अच्छा पैसा कमा सकते हैं। मुर्गी पालन फार्म पर सब्सिडी (Subsidy on Poultry Farm) के लिए आवेदन मांगे गए हैं। इच्छुक व्यक्ति जो पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए सरकार से 50 लाख रुपए की सब्सिडी (Subsidy) का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, वे 15 सितंबर 2023 तक आवेदन कर सकते हैं। Poultry farm subsidy

मुर्गी पालन फार्म खोलने के लिए कितनी मिलेगी सब्सिडी (Subsidy), इसके लिए कैसे करना होगा आवेदन, मुर्गी पालन फार्म के लिए आवेदन के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी और मुर्गी पालन फार्म खोलने पर कितना लाभ हो सकता है आदि बातों की जानकारी दे रहे हैं।

मुर्गी पालन फार्म पर कितनी मिलेगी सब्सिडी (Subsidy)

Poultry farm subsidy सरकार की ओर से 10,000 व 5,000 लेयर मुर्गी क्षमता वाले फार्म खोलने के लिए सब्सिडी (Subsidy) दी जा रही है। इसके तहत किसानों को 40 से लेकर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी प्रदान की जा रही है। इस योजना के तहत सभी वर्गों के किसानों को अनुदान दिया जा रहा है। इसी के साथ ही बैंक लोन के ब्याज पर भी किसानों को 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। इस योजना के तहत सामान्य वर्ग और अन्य वर्ग के लिए सब्सिडी का निर्धारण अलग-अलग किया गया है, जो इस प्रकार से है

मुर्गी पालन फार्म के लिए सामान्य वर्ग के लिए अनुदान

पशुपालन विभाग की ओर से 10,000 लेयर मुर्गी क्षमता, फीड मिल सहित के लिए प्रति इकाई लागत 1 करोड़ रुपए निर्धारित की गई है। इस पर विभाग की ओर से सामान्य वर्ग के किसानों को लागत का 30 प्रतिशत यानि 30,000 रुपए अधिकतम अनुदान (Subsidy) दिया जाएगा। इसी के साथ ऋण के ब्याज पर चार सालों के लिए 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाएगी। इसी प्रकार पशुपालन विभाग की ओर से 5,000 लेयर मुर्गी पालन के लिए इकाई लागत 48.50 लाख रुपए निर्धारित की गई है। इस पर लागत का 30 प्रतिशत यानि 14.55 लाख रुपए सब्सिडी दी जा रही है। इसी के साथ ही बैंक ऋण के ब्याज पर चार वर्षों के लिए 50 प्रतिशत सब्सिडी (Subsidy) दी जाएगी।

मुर्गी पालन पर किस योजना के तहत मिलेगी सब्सिडी (Subsidy)

दरअसल राज्य सरकार की ओर से समेकित मुर्गी पालन विकास योजना (samekit murgi palan vikas yojana) चलाई जा रही है। इसेक तहत किसानों को मुर्गी पालन फार्म खोलने के लिए सब्सिडी और लोन के ब्याज में छूट (Discount) का लाभ प्रदान किया जा रहा है। योजना के तहत राज्य सरकार ने वित्त वर्ष 2023-24 के लिए 10,000 और 5,000 लेयर मुर्गी क्षमता वाले फार्म के लिए लक्ष्य जारी कर दिया गया है। इसके तहत राज्य के किसान आवेदन करके सरकारी सब्सिडी (Subsidy) व छूट का लाभ उठा सकते हैं।

मुर्गी पालन फार्म पर सब्सिडी के लिए कैसे करें आवेदन

Poultry farm subsidy यदि आप बिहार के हैं तो आप समेकित मुर्गी पालन योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं। आवेदन से पहले आपको पशुपालन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट state.bihar.gov.in/ahd/ पर ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। आप आधार संख्या अथवा वोटर कार्ड संख्या के जरिये भी इसके लिए पंजीकरण कर सकते हैं। ऑनलाइन पंजीकरण (online registration) के समय आपको सभी वांछित दस्तावेजों को ऑनलाइन अपलोड करना होगा। इसलिए आवेदन करने से पहले ही आप सभी आवश्यक दस्तावेजों की कॉपी स्कैन करवाकर पीडीएफ फॉर्मेट में तैयार करवाकर अपने पास रख लें ताकि आपको आवेदन करते समय कोई परेशानी नहीं हो।

मुर्गी पालन फार्म के लिए आवेदन हेतु किन दस्तावेजों  (documents) की होगी आवश्यकता

मुर्गी पालन फार्म के लिए आवेदन करते समय आपको कुछ दस्तावेजों  (documents) की आवश्यकता होगी, ये दस्तावेज इस प्रकार से हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *