Khet Talab Yojana: खेतों में खुदवाएं तालाब, सरकार दे रही 50% तक की सब्सिडी

Khet Talab Yojana

Subsidy On Pond: देश के कई राज्यों में भूभाग जलस्तर नीचे गिरता जा रहा है. सरकार के साथ-साथ किसानों के लिए भी ये बेहद चिंता का goverment subsidy विषय है. ऐसे में उत्तर  प्रदेश सरकार द्वारा संचालित खेत तालाब योजना किसानों के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है. इस योजना के तहत 50 प्रतिशत का अनुदान दिया जाता है.

👉तालाब का आकार और कितनी सब्सिडी मिलेगी देखणे के लिये👈
 👇👇👇👇

👉👉 क्लिक करा👈👈

खरीफ की फसलों की बुवाई का महीना आ चुका है. खेतों को तैयार किए जाने की प्रकिया शुरु हो चुकी है. खरीफ की फसलों में पानी की खपत बढ़ने की वजह से भूभाग जलस्तर नीचे जाने की goverment subsidy संभावनाएं बनी रहती हैं. इससे निपटने के लिए और किसानों की आर्थिक स्थिति और बेहतर करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें कई योजनाओं पर काम करती नजर आती है. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित खेत तालाब योजना भी कुछ इसी तरह की पहल है.

👉तालाब का आकार और कितनी सब्सिडी मिलेगी देखणे के लिये👈
 👇👇👇👇

👉👉 क्लिक करा👈👈

इस योजना के तहत किसानों को खेत में तालाब goverment subsidy बनवाने पर तीन किस्तों में 50 प्रतिशत का अनुदान दिया जाता है. बता दें कि इस योजना के माध्यम से किसान खेतों में सिंचाई की समस्या से छुटकारा तो पा सकते हैं. इसके अलावा आप इन तालाबों में मछली पालन कर बढ़िया मुनाफा कमा सकते हैं.

खेत तालाब योजना का उद्देश्य

  1. कृषकों को जल के संरक्षण, समुचित प्रयोग हेतु प्रेरित करना
  2. वर्षा जल को संग्रहीत करके सिंचाई हेतु प्रयोग करना
  3. संचित जल का का सुरक्षित उपयोग
  4. भूगर्भ जल स्तर में में वृद्धि

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान भाई को goverment subsidy उत्तर प्रदेश के पारदर्शी किसान सेवा योजना पर जाकर आवेदन करना होगा. इसके अलावा, आवेदन शुल्क 1000 रुपए देय होगा. आवेदन करने के बाद जिलाधिकारी द्वारा अनुमोदित सूची के आधार पर लाभार्थियों goverment subsidy  का चयन किया जाएगा. अनुसूचित जाति/जनजाति, अल्पसंख्यक तथा लघु/सीमान्त goverment subsidy कृषकों को प्राथमिकता इस योजना के लिए प्राथमिकता दी जाएगी.

तालाब का आकार और कितनी  मिलने सब्सिडी मिलेगी देखणे के लिये

👉तालाब का आकार और कितनी सब्सिडी मिलेगी देखणे के लिये👈
 👇👇👇👇

👉👉 क्लिक करा👈👈

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *